इन्दौर । इन्दौर संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने आज इंदौर संभाग के बड़वानी जिले में अंजड़ एवं पाटी नाका सरदार सरोवर के डूब से प्रभावित परिवारों के लिये बनाये गये अस्थाई पुर्नवास स्थल का निरीक्षण किया और संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान उनके साथ बड़वानी कलेक्टर श्री अमित तोमर एवं राजस्व, पीएचई, एनव्हीडीए, लोक निर्माण विभाग के अधिकारी थे ।
संभागायुक्त त्रिपाठी ने अंजड़ के अस्थाई पुर्नवास स्थल का निरीक्षण कर अधिकारियों को पुनर्वास स्थल पर बेहतर व्यवस्थाएं कराने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होंने निर्देश दिये कि संबंधित अधिकारी अस्थाई पुर्नवास स्थलों का निरीक्षण नियमित रूप से करते रहे, जिससे आवश्यकता पड़ने पर यहां आने वाले डूब प्रभावितों को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पडे।
:: आंगनवाड़ी केन्द्र का निरीक्षण :: 
संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी द्वारा आज इंदौर संभाग के बड़वानी जिले के पुर्नवास केन्द्र उटावद की आदर्श आंगनवाड़ी केन्द्र का निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ बड़वानी कलेक्टर अमित तोमर भी थे ।
संभागायुक्त त्रिपाठी द्वारा केन्द्र की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती भगवती चान्दौरे से आंगनवाड़ी केन्द्र में दर्ज कम वजन के बच्चों के वजन बढ़ाने हेतु किये जा रहे प्रयासों की जानकारी ली तथा आंगनवाड़ी केन्द्र में संधारित बच्चों के ग्रोथ चार्ट को भी देखा। इस दौरान उन्होंने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता से कहा कि वे कम वजन के बच्चों के पालकों से नियमित रूप से चर्चाकर बच्चे के वजन तथा उन्हें घर पर दिये जाने वाले आहार के बारे में जानकारी देते रहे । जिससे एनआरसी  केन्द्र में भर्ती होने के पश्चात् किसी भी स्थिति में बच्चों का वजन पुनः कम न होने पाये।
इस दौरान बडवानी कलेक्टर अमित तोमर ने उन्हें बताया कि जिले में पड़ रही भीषण गर्मी के मद्देनजर आंगनवाड़ी केन्द्रों पर बच्चों की उपस्थिति प्रातः 7.30 बजे से प्रातः 11.30 बजे तक निर्धारित की गई है। इसके पश्चात् का समय आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका के रजिस्टर संधारण एवं गृह भेंट के लिए निर्धारित किया गया है।
:: लोक सेवा केन्द्र का निरीक्षण :: 
संभागायुक्त इन्दौर आकाश त्रिपाठी द्वारा आज इंदौर संभाग के बड़वानी जिले के भ्रमण के दौरान आकस्मिक रूप से लोक सेवा केन्द्र बड़वानी का निरीक्षण किया।  उन्होंने लोक सेवा केन्द्र में उपस्थित आवेदकों से चर्चाकर, उन्हें प्रदान की जा रही सेवाओं से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के साथ ही केन्द्र संचालकों से भी जाना कि वे किस प्रकार आवेदकों को त्वरित रूप से सुविधा उपलब्ध करवा रहे हैं। 
लोकसेवा केन्द्र पर उपस्थित आवेदकों से चर्चाकर जाना कि उन्हें संबंधित सेवा प्राप्त करने के लिये भरे जा रहे आवेदनों को भरने में कोई परेशानी तो नही आ रही। इसी प्रकार उन्होने आवेदकों से जानना चाहा की आवेदन हेतु उन्हें निर्धारित शुल्क से अधिक की राशि तो नही देना पड़ रही है। आवेदकों द्वारा बताया गया की उन्हें केन्द्र में आवेदन निःशुल्क मिले हैं। उन्हें निर्धारित शुल्क से अधिक राशि नहीं देना पड़ रही है। त्रिपाठी द्वारा लोकसेवा केन्द्र के आपरेटरों से भी चर्चा की गयी। उन्होंने उनसे जानना चाहा की वे किस प्रकार आवेदकों का फार्म प्राप्त करने के पश्चात् उन्हें चाही गई सेवाए उपलब्ध करा रहे हैं।