नई दिल्लीः नरेंद्र मोदी दूसरी बार पीएम पद की शपथ ग्रहण करने जा रहे हैं. वहीं, मोदी कैबिनेट के लिए मंत्रियों का चुनाव कर लिया गया है. लेकिन इस बीच जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने फैसला किया है कि उनकी पार्टी से कोई भी सांसद मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होंगे.

सूत्रों से खबर है कि जेडीयू के खाते में एक मंत्री पद दिया जा रहा था. लेकिन इस पर जेडीयू ने नाराजगी जताई है. जिसके बाद नीतीश कुमार ने फैसला किया है कि उनकी पार्टी से कोई मंत्री नहीं बनेंगे.

 
हालांकि, नीतीश कुमार ने कहा है कि बीजेपी की ओर से कहा गया था कि उनके जो गठबंधन दल हैं उन्हें एक-एक मंत्री पद दिए जाएंगे. यह सिंबॉलिक रिप्रजेंटेशन के तौर पर होगा. इस तरह के प्रस्ताव पर हमने पार्टी की मीटिंग कर बात की. जिसमें फैसला लिया गया कि यह प्रस्ताव मंजूर नहीं होगा. हमें सिंबॉलिक रिप्रजेंटेशन बनने की जरूरत नहीं है.

उन्होंने कहा कि सरकार में ऐसे शामिल होने की जरूरत नहीं है. हमें सरकार में शामिल होने की कोई दिलचस्पी नहीं है. हालांकि, नीतीश कुमार ने कहा कि हम बिहार में साथ है और सरकार के कामों में साथ हैं. हमें मंत्री पद को लेकर किसी तरह की नाराजगी नहीं है. इसलिए हम गठबंधन में साथ है, लेकिन मंत्री पद में जाने की दिलचस्पी नहीं है.
नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी बात इस बारे में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से भी हो गई है. जब उन्होंने इस तरह का प्रस्ताव दिया तो हमने कहा कि इसके लिए पार्टी से बात करनी होगी. और पार्टी के फैसले के साथ अमित शाह को भी इसकी जानकारी दे दी गई है.