भिंड जिले के दबोह में युवक की हत्या करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने महाराष्ट्र के ठाणे से गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस गिरफ्त में आए आरोपियों ने 9 सितंबर को दबोह के देवरी गांव में एक युवक की गोली मार कर हत्या की थी. इतना ही नहीं इन पर दतिया जिले के एक नाबालिग के अपहरण का केस दर्ज है. हालांकि दतिया जिले से फरवरी माह में अगवा किए गए नाबालिग का कोई सुराग नहीं मिला है. मामले में भिंड एसपी रूडोल्फ अल्वारेस और दतिया एसी ने महाराष्ट्र पुलिस से दोनों आरोपियों की गिफ्तारी के लिए सहयोग मांगा था.

क्या है का पूरा मामला

भिंड जिले के देवरी गांव में 9 सितंबर की रात करीब 8.30 बजे सोसाइटी से गेहूं नहीं मिलने पर विवाद हुआ था. गांव के ही संजय बौहरे और अजय दूबे का आरोपी शिवम, पुष्पेंद्र और नरेंद्र से विवाद हुआ था. विवाद बढ़ने पर संजय और अजय के परिजन उनको घर के अंदर ले आए. इसके बाद आरोपियों ने अपने घर की घत से गालियां देना शुरू कर दिया. संजय और अजय गाली-गलौच से नाराज होकर आरोपियों को समझाने गए थे, तभी आरोपियों ने 315 बोर के देसी कट्टे से फायर कर दिया था. गोली अजय के माथे में लगी थी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी. मामले में पुलिस ने शिवम, पुष्पेंद्र सहित चार आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया था. हत्या के दो आरोपियों को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था. शिवम और पुष्पेंद्र की गिरफ्तारी महाराष्ट्र के थाने से हुई.

महाराष्ट्र पुलिस की माने तो शिवम और पुष्पेंद्र पर मध्य प्रदेश पुलिस ने दस हजार रुपए का इनाम रखा है. इन दोनों ने दतिया जिले से 29 फरवरी को एक नाबालिग का भी अपहरण किया था और परिजन से 15 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी. पुलिस को जांच के दौरान पता चला आरोपियों ने महाराष्ट्र के ठाणे से फोन किया था. अपहरण के मामले को लेकर दतिया पुलिस ने ठाणे पुलिस को अलर्ट किया था. गिरफ्तारी के बाद दोनों आरोपी से खुलासा हुआ कि वे अगवा किए गए नाबालिक के रिश्तेदार हैं.