जौनपुर में गठबंधन की संयुक्त चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंची बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को बीजेपी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने यहां एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस बार 'नमो-नमो' की जनता छुट्टी कर देगी. मायावती ने कहा कि अपनी गलत नीतियों की वजह से कांग्रेस को सत्ता गंवानी पड़ी थी. अब बीजेपी अपनी कमियों की वजह से सत्ता से बेदखल होगी.

सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ पार्टी प्रत्याशी श्याम सिंह यादव और मछलीशहर से प्रत्याशी त्रिभुवन राम के समर्थन में मायावती ने वीर बहादुर सिंह यूनिवर्सिटी के प्रांगन में जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने कहा, "कांग्रेस के शासनकाल में गरीबी दूर नहीं हुई. पिछली सरकारों में दलितों, गरीबो, पिछडो को क़ानूनी अधिकार नहीं मिला है. कांग्रेस को केंद्र और राज्य में आप लोगों ने मौका दिया. लोकसभा चुनाव में अबकी बार केंद्र व राज्य में बीजेपी की सरकार बनी."

मायावती ने कहा, "अबकी बार बीजेपी की सरकार जरूर चली जाएगी. पीएम मोदी ने गरीबों को अच्छे दिन लाने का सपना दिखाया था. लेकिन अच्छे दिन नहीं आए. यूपी में आवारा जानवरों ने किसानों को बर्बाद किया. पूरे देश में अभी तक आरक्षण का कोटा अधूरा है. पीएम मोदी से आप लोग पूछें पांच साल में क्या किया? तब पीएम आप लोगों से वोट नहीं मांगने आएंगे. इसी प्रकार कांग्रेस पार्टी ने भी चुनाव में बहकाया है. सर्वजन, हिताय, सर्वजन सुखाय के हितों पर सरकार चलाएंगे. इस चुनाव में गठबंधन के सभी प्रत्याशियों को जितना है. गठबंधन की एक-एक सीट जितना जरुरी है."

मायावती ने जाति का कार्ड खेलते हुए आगे कहा, "जौनपुर सीट से क्षत्रिय व ब्राह्मण के लोग टिकट मांगा था, लेकिन नहीं दिया. पिछड़े से यादव समाज को टिकट दिया. मछलीशहर से त्रिभुवन राम को टिकट दिया है. जौनपुर के दोनों प्रत्याशी, सरकारी अधिकारी रह चुके हैं. रिटायर्ड अधिकारी को प्रत्याशी बनाया है. हाथी वाला बटन दबाकर जिताएं."


इस दौरान अखिलेश यादव ने भी जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने बसपा प्रत्याशी के लिए वोट मांगे और कहा कि एक-एक वोट हाथी को दीजिए. अखिलेश यादव ने कहा, "संविधान न होता तो कुछ लोग जाकर घण्टा बजा रहे होते. देश की सरकार ने कोई काम नहीं किया. जो काम चल रहे थे, वो भी बंद कर इया. बीजेपी ने काम रोकने का काम किया है. पूरी देश की निगाहें, यूपी में है, 5 चरण में जनता बहुत ने बहुत मदद की है. बनारस में फौजी को चुनाव लड़ने से रोका गया. दोनों प्रत्याशी जीतेंगे. जौनपुर के लोग जो तय कर लेंगे, वही परिणाम आता है."

बता दें छठे चरण में जौनपुर, मछलीशहर, आजमगढ़ समेत 14 सीटों पर 12 मई को मतदान होगा. इस चरण में बसपा के सात और सपा के चार उम्मीदवार मैदान में हैं. पिछले चुनाव में बीजेपी को 13 सीटों पर जीत मिली थी. आजमगढ़ सीट पर मुलायम सिंह यादव जीते थे.