आयुक्त देवीपाटन मण्डल महेन्द्र कुमार ने जनपद गोण्डा में लोक सभा निर्वाचन को सकुशल, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष ढंग से सम्पन्न कराने के लिए जिला प्रशासन द्वारा अब तक की गई तैयारियों की बिन्दुुवार गहन समीक्षा की और जिम्मेदार नोडल अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश भी दिए। 

 

आयुक्त सभागार में आयोजित बैठक में मण्डलायुक्त ने डीआईजी के साथ एक-एक बिन्दु की समीक्षा की और नोडल अधिकारियों से जवाब तलब किया। मण्डलायुक्त ने प्रभारी अधिकारी कार्मिक को स्पष्ट निर्देश दिए कि वे कार्मिकों की पर्याप्त उपलब्धता पहले से ही सुनिश्चित रखें और बहाने बनाकर ड््यूटी कटवाने वालों को कतई न बख्शें। उन्होने कहा कि निरोधात्मक कार्यवाही युद्धस्तर पर की जाए और प्रत्येक गांव सेे पांच-पांच उपद्रवी लोगों का मोबाइल नम्बर लेकर ऐसे लोगों को पहले से सचेत कर दें कि यदि उनके गांव के बूथ पर कुछ भी गड़बड़ हुई तो सीधे उन्हीं को उठाया जाएगा। पुलिस ऐसे लोगों को लाल व पीला कार्ड जारी कर रही है। समीक्षा में ज्ञात हुआ कि पुलिसिया कार्यवाही में जनपद गोण्डा गोरखपुुर जोन में कार्यवाही में नम्बर वन पर है। आयुक्त ने निर्देश दिए कि ऐेसे सभी मतदान केन्द्र जहां पर प्रकाया की व्यवस्था नहीं है वहां पर सोलर लैम्प, जनरेटर, पैट्रो मैक्स आदि की व्यव्स्था हर हाल में करा दी जाय तथा सभी मतदान केन्द्रों पर अनिवार्य रूप से खानपान व पंखे आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाय जिससे काार्मिकों को मतदान कार्य में दिक्कत न हो। पोलिंग परसेटेन्ज बढ़ाने के लिए ग्राम प्रधानों व कोटेदारों की भी जिम्मेदारी तय की जाय। सीडीओ को निर्देश दिए कि वे सभी बीडीओ को निर्देश दें कि ब्लाक के सभी ग्राम प्रधानों को बुुलाकर मीटिंग करा दें और उन्हें सख्त चेतावदी दे दें कि यदि उनकी ग्राम पंचायत में मतदान प्रतिशत कम पाया गया उनसे जवाब तलब किया जाएगा। इसी प्रकार कोटेदारों की भी जिम्मेदारी भी तय की जाएगी कि जब राशन का वितरण शत-प्रतिशत हो रहा है तो वोट कम क्यों पड़े। इसलिए ग्र्राम प्रधान व कोटेदारों का सहयोग मत प्र्रतिशत बढ़ाने में लिया जाय। आयुक्त ने निर्देश दिए कि यह प्रत्येक दशा में सुनिश्श्चित किया जाय किक मतदान केन्द्रों तक पोेलिंग पार्टियों के वाहन आसानी से पहुंच जाय जिससे उन्हें किसी भी प्रकार की कठिनाई न हो। कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए के लिए पूरे जिलें में पुलिस की 300 क्लस्टर मोबाइल भ्रमणशील रहेगीं जो प्रत्येक आधे घन्टे पर हर मतदान केन्द्र पर पहुंचते रहेगें। आयुक्त ने जिले में प्रत्येक विधानसभा से 50 सबसे कम मत प्रतिशत वाले बूथों की सूची तलब कर डीएम व सीडीओ को ऐसे केन्द्रों पर स्वयं जाकर कारण जानने व वहां का मत प्रतिशत बढ़वाने के निर्देश दिए हैं। उन्होने यह भी आदेश दिए कि निर्वाचन के एक दिन पूर्व 05 मई की रात में सभी मतदान केन्द्रों पर कार्मिकों व सुरक्षा बलों के पहुंचने की रिपोर्ट सम्बन्धित सेक्टर मजिस्ट्रेट व थानाध्यक्ष देगें ओर गैर हाजिर मिलने पर तत्काल ऐसे लापरवाहों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। इसकेे अलावा आयुक्त ने रूट चार्ट, वाहन व्यव्स्था, बैलेेट वोटर्स, डीईएमपी, जागरूकता कार्यक्रमों, ट्रैफिक प्लान, क्रिटिकल व बल्र्नेबल्स बूथो की स्थिति, शिकायतों की स्थिति आदि की समीक्षा की। 

 

बैठक में डीएम गोण्डा डा0 नितिन बंसल, एसपी गोण्डा आर0पी0 सिंह, अपर आयुक्त प्रशासन आरसी शर्मा, एडीएम रत्नाकर मिश्र, सीआरओ आरआर प्रजापति, एसडीएम सदर नितिन गौर सहित सभी एसडीएम, मुख्य कोषाधिकारी, सभी नोडल अधिकारी व जिला सूचना विज्ञान अधिकारी तथा अन्य उपस्थित रहे।

 

युद्धस्तर पर हो निरोधात्मक कार्यवाहियां, उपद्रवियों को चिन्हित थमाएं रेड कार्ड-आयुक्त

 

निरोधात्मक कार्यवाही में जोन में गोण्डा अव्वल

लोक सभा चुनाव को लेकर आयुक्त व डीआईजी की सख्ती रंग लाई है जिसके कारण जनपद गोण्डा गोरखपुर जोन में निरोधात्मक कार्यवाही में अव्वल रहा है। शुक्रवार को मण्डलायुक्त व डीआईजी द्वारा आयुक्त सभागगार में निरोधात्मक कार्यवाही समीक्षाा की गई तो ज्ञात हुआ कि जनपद गोण्डा में चिन्हित 34,956 लोगों में तीस हजार लोगों को नोटिस तामीला कराई गई जिसमें 25 हजार लोगों को अब तक पाबन्द किया जा चुका है। वहीं पुलिस की छापेमारी में जिले में अब 2450 सुतली बमों, 43 किलो गांजा, 2 किलो चरस की बरामदगी भी की गई। छापेमारी में तीस हजार लीटर से अधिक अवैध शराब पकड़ी गई और अवैध शराब का कारोबार करने वाले 166 लोगों को जेल भेजा गया। 81 भट्ठियों को उपकरण सिहत नष्ट किया गया जबकि 105 अवैध असलहे बरामद किए और 09 अवैध असलहे बनाने की फैक्ट्रियों का भण्डाफोड़ किया गया। गम्भीत अपराध के 123 वाछितों को जले भेजा गया। इसके अतिरिकत जिले में लाइसेन्सी 10829 असलहो के सापेक्ष 7932 असहले जमा कराए गए, 932 दुुकानों पर जमा, 181 कोर्ट के स्टे के कारण जमा नहीं कराए जा सके, 414 जनपद के बाहर रह रहे लोगों के हैं जिन्हे जमा कराने के लिए सम्बन्धित जिलें को पत्र भेजने की कार्यवाही अब तक की जा चुकी है। वहीं 21 लोगों के खिलाफ गुण्डा एकट की कार्यवाही के साथ ही जिला बदर किया गया है।

कार्मिकों के दूसरे दिन प्रशिक्षण से अनुपस्थित रहे 57 कार्मिक, एफआईआर के आदेश

 

प्रशिक्षण के बाद टेस्ट में फेल हुए 15 कार्मिक, अब फिर से होगा प्रशिक्षण

 

लोक सभा निर्वाचन को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए मतदान कार्मिकों के दुसरे दिन के प्रशिक्षण में दोेनों पालियों को मिलाकर 57 कार्मिक गैर हाजिर रहे तो वहीं सीडीओ द्वारा लिए गए प्रशिक्षण टेस्ट में 15 कार्मिक फेल हो गए। अनुपस्थित पाए गए सभी कार्मिकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही फेल हुए कार्मिकों को पुनः प्रशिक्षण दिए जाने के निर्देश प्रभारी अधिकारी कार्मिक/सीडीओ आशीष कुमार ने दिए हैं। 

  गौरतलब है मतदान कार्मिकों का प्रशिक्षण नगर के शहीदे आजम सरदार भगत सिंह इन्टर कालेज में चल रहा है जहां पर प्रशिक्षण के दूसरे दिन भी कार्मिकों को प्रोजेक्टर के माध्यम सेे प्रशिक्षण दिया गया तथा कार्मिकों की उपस्थिति दो बार ली गई। प्रभारी अधिकारी कार्मिक/सीडीओ आशीष कुमार ने बताया कि प्रथम पाली में 31 कार्मिक तथा द्वितीय पाली में 26 कार्मिकों सहित कुल 57 कार्मिक अनुुपस्थित पाए गए जिनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। प्रभारी अधिकारी कार्मिक ने बताया कि आगे भी कार्मिकों का प्रशिक्षण 06, 08 व 09 अप्रैल को नगर के शहीदे आजम सरदार भगत सिंह (टामसन) इन्टर कालेज में ही दो पालियों में होगा जिसमें 820-820 कार्मिकों को सामान्य तथा ईवीएम का प्रशिक्षण सुबह साढे नौ बजे से दोपहर साढ़े 12 बजे तक तथा द्वितीय पाली में दो बजे से सांय 5 बजे तक 20-20 कक्षों में प्रशिक्षण दिया जाएगा। सभी कक्षों में प्रशिक्षण के लिए प्रोजेक्टर व साउण्ड सिस्टम की विशेष व्यवस्था की गई है जिसके माध्यम से कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रथम दिन दोनों पालियों को मिलकर निर्धारित 1640 कार्मिकों के सापेक्ष 1583 कार्मिकों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। प्रशिक्षण के दौरान सहायक प्रभारी कार्मिक पीडी सेवाराम चैधरी, डीएसओ, बीएसए तथा अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

न्यूज़ सोर्स : उत्तर प्रदेश : सीबी मणि त्रिपाठी