पिछली दस विधानसभा चुनावों से लगातार जीतते आ रहे बीजेपी के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने कांग्रेस के दिग्गज नेता और दस साल तक मध्य प्रदेश के सीएम रहे दिग्विजय सिंह को भोपाल से चुनाव लड़ने की चुनौती दी है. बाबूलाल गौर ने कहा है कि दिग्विजय भोपाल से चुनाव लड़कर दिखाएं, मालूम पड़ जाएगा. दिग्विजय आ जाएं, हो जाए दो-दो हाथ. भोपाल से उनका जीतना लोहे के चने चबाना है, यहां बीजेपी बहुत मजबूत है.

बता दें कि दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि मैं कमलनाथ जी का आभारी हूं कि उन्होंने मुझे इस लायक समझा और मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कमजोर सीट से चुनाव लड़ने का आमंत्रण दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि ''मैं राघौगढ़ की जनता की कृपा से साल 77 की जनता पार्टी की लहर में भी लड़कर जीत आया था. चुनौतियों को स्वीकार करना मेरी आदत है. जहां से भी मेरे नेता राहुल गांधी कहेंगे मैं चुनाव लड़ने को तैयार हूं.''दरअसल, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बारे में बयान दिया था कि दिग्विजय सिंह कहां से चुनाव लड़ना चाहते हैं ये वे खुद तय करेंगे. कमलनाथ ने कहा, 'जो चार- पांच सीटें कड़ी चुनौती वाली हैं, जहां से कांग्रेस पिछले 30-35 सालों से हारती आई है, दिग्विजय सिंह से मेरा आग्रह है कि वे वहां से लड़ें.'
\दिग्विजय के भोपाल सीट से लड़ने की चर्चा पर भोपाल सांसद आलोक संजर का भी बयान आया है. उन्होंने कहा है कि राजधानी जहां कांग्रेस का कार्यालय है, वहां वह एक नेता तक नहीं खड़ा कर पाई. वे कभी करीना को लड़ाने की बात करते हैं तो कभी दिग्विजय सिंह को. इससे सिद्ध हो गया है कि कांग्रेस कमजोर है. भोपाल में कांग्रेस इतनी कमजोर कि उसे बाहर से प्रत्याशी लाना पड़ रहा है. संजर ने कहा कि दिग्विजय सिंह लड़कर देख लें. इतिहास खुद को दोहराएगा. कांग्रेस के दिग्गज अर्जुन सिंह भी हारे थे, कांग्रेस फिर मुंह की खाएगी.