नई दिल्ली, जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को पनाह देने का आरोप झेल रहे पाकिस्तान ने सार्वजनिक तौर पर स्वीकार किया है कि मसूद अजहर पाकिस्तान में मौजूद है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि उनकी जानकारी के मुताबिक वह पाकिस्तान में है. पाक विदेश मंत्री ने कहा कि मसूद अजहर बेहद बीमार है, वह बीमारी से तड़प रहा है, उसकी ये हालत है कि वह अपने घर से बाहर नहीं निकल सकता है.

शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान कभी भी तनाव बढ़ाना नहीं चाहता है. भारत द्वारा हमला करने की वजह से ही तनाव बढ़ा है. मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित अंतरराष्ट्रीय आतंकवादियों की सूची में डालने के मुद्दे पर कुरैशी ने कहा, "हम लोग ऐसा कोई भी कदम उठाने को तैयार हैं जिससे तनाव कम होता है, यदि उनके पास अच्छे, सॉलिड सबूत हैं तो कृपया बैठिए और बात करिए, कृपया बातचीत की शुरुआत करिए, हम ठीक-ठाक कार्रवाई करेंगे."
जैश आतंकी मौलाना मसूद अजहर के ठिकाने पर स्पष्ट रूप से बोलते हुए कुरैशी ने बताया कि वह पाकिस्तान में है. कुरैशी ने कहा कि मौलाना मसूद अजहर गंभीर बीमारी से गुजर रहा है. शाह महमूद कुरैशी ने बताया, "वह पाकिस्तान में है, वह बेहद बीमार है, वो इतना बीमार है कि वो अपने घर से नहीं निकल सकता है."

मसूद अजहर की गिरफ्तारी पर उन्होंने कहा, "अगर भारत ऐसे सबूत देता है जो पाकिस्तान की अदालत को मंजूर है...तो हम निश्चित तौर पर कार्रवाई करेंगे...आखिरकार हम लोगों को अदालती प्रक्रिया अपनानी पड़ती है...वे लोग अदालत जाएंगे, यदि उनके पास सॉलिड सबूत हैं तो वे हमें दें ताकि हम लोगों को समझा सकें, साथ ही पाकिस्तान की स्वतंत्र न्यायपालिका को भी बता सकें."

शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि हमारे देश में कानूनी प्रक्रिया है और हमें उसका पालन करना पड़ता है. अगर भारत कार्रवाई चाहता है तो हमें कानूनी प्रक्रियाओं का पालन करना पड़ेगा.

ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कंट्रीज (OIC) देशों के सम्मेलन में शिरकत करने पर शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान इस संगठन का संस्थापक सदस्य है और ये हमारा फोरम है हम इसमें शिरकत करेंगे.