नई दिल्ली, मिशन 2019 के लिए भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) जोरशोर से जुट गई है. 2019 के लोकसभा चुनाव को फतह करने के लिए पार्टी ने अभी से ही अपने सिपहसालार मैदान में उतार दिए हैं. रविवार को भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने चुनाव से जुड़ी समितियों का ऐलान कर दिया है. इसके तहत उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को संकल्प पत्र यानी चुनाव घोषणा पत्र समिति (manifesto committee) का अध्यक्ष नियुक्त किया है, जबकि केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली को पार्टी की प्रचार शाखा (publicity wing) का प्रमुख बनाया गया है.

बीजेपी की इन चुनाव समितियों में राजनाथ सिंह और अरुण जेटली के अलावा रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, रेलमंत्री पीयूष गोयल, केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी समेत अन्य पार्टी के दिग्गज नेताओं को शामिल किया गया है. भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और मुख्यालय प्रभारी अरुण सिंह की ओर से जारी प्रेस रिलीज के मुताबित संकल्प पत्र  समिति में राजनाथ सिंह समेत 20 लोगों को शामिल किया गया है, जबकि प्रचार-प्रसार समिति में 8 लोगों को जगह दी गई है.

यहां देखें सभी समितियों की सूची, जानिए किसको क्या जिम्मेदारी मिली

इसके अलावा सामाजिक-स्वयंसेवी संगठन संपर्क समिति में 14 लोगों, साहित्य निर्माण समिति में 12, मीडिया सेल में 17, प्रवास समिति में 5, सोशल मीडिया समिति में 13, लाभार्थी संपर्क समिति में 13, प्रबुद्ध सम्मेलन समिति में 4, चुनाव आयोग समिति में 6, यातायात एवं विमानन समिति में 6, साहित्य वितरण समिति में 4, मेरा परिवार-भाजपा परिवार समिति में 4 और कमल ज्योति समिति में 3 लोगों को शामिल किया गया है.

संकल्प पत्र समिति में केंद्रीय मंत्री राजनाथ के अलावा केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली, रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, रेलमंत्री पीयूष गोयल, केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजूजू, बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, अर्जुन मुंडा, राम माधव, भूपेंद्र यादव, नारायण राणे, मीनाक्षी लेखी,  डॉ संजय पासवान, हरी बाबू, राजेंद्र मोहन सिंह चीमा और अल्फोंस को शामिल किया गया है.

वहीं, प्रचार-प्रसार समिति में जेटली के अलावा रेलमंत्री पीयूष गोयल, केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौर, डॉ. महेश शर्मा, अनिल जैन, सतीश उपाध्याय, राजीव चंद्रशेखर और ऋतुराज सिन्हा को शामिल किया गया है. इसके अलावा सामाजिक- स्वयंसेवी संगठन संपर्क समिति में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, कैलाश विजयवर्गीय, सदानंद गौड़ा, कलराज मिश्र, शिव प्रसाद शुक्ला, विजय सांपला, एसएस अहलूवालिया, बंडारू दत्तात्रेय, सरदार आरपी सिंह, मांगेराम गर्ग, एल गणेशन, लक्ष्मीकांत वाजपेयी, भूपेंद्र सिंह चुडासमा और मदन कौशिक को जगह दी गई है.

इसके लिए साहित्य निर्माण समिति में सुषमा स्वराज, विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रभात झा, महेश शर्मा, अनुराग ठाकुर, सुधांशु त्रिवेदी, अनिल बलूनी  समेत अन्य को शामिल किया गया है. इस समिति की कमान सुषमा स्वराज को सौंपी गई है.