भोपाल,  मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को लेकर आए दिन नेता विवादित बयान दे रहे हैं. ताजा मामला मध्य प्रदेश सरकार में श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया से जुड़ा है. उनका एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें वो अपने कार्यकर्ताओं से कह रहे हैं कि अधिकारी को फोन लगाओ और वह काम नहीं करे तो मुझे बताओ. काम न करने वाले अफसरों को लात मारकर बाहर कर देंगे.
बताया जा रहा है कि यह विवादित वीडियो गुना जिले के ग्राम हिनौतिया का है. यहां मंत्री अपने कार्यकर्ताओं से मिलने पहुंचे थे. उनके बात करते समय उन्होंने अफसरों को लात मारकर बाहर करने की बात कही. हालांकि, अब तक इस वीडियो पर किसी तरह की सफाई मंत्री की तरफ से नहीं दी गई है.
कौन हैं महेन्द्र सिंह सिसोदिया...

महेन्द्र सिंह सिसोदिया गुना की बमोरी विधानसभा सीट से विधायक हैं. उन्हें हाल ही में कमलनाथ सरकार में श्रम मंत्री बनाया गया है. वो गुना सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी माने जाते रहे हैं.


कमलनाथ सरकार का अधिकारियों पर सख्त रवैया...?

मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार अधिकारियों और कर्मचारियों पर सख्त रवैया अपनाए हुए दिखाई दे रही है. कुछ दिन पहले ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आदेश दिया कि अब प्रदेश में कोई भी घोषणा मुख्यमंत्री नहीं करेंगे, बल्कि उस विभाग से जुड़ा अधिकारी करेगा जिसके अंतर्गत यह कार्य होना है और जिसकी जिम्मदारी कार्य पूरा करने की होगी.


चुनाव प्रचार में अधिकारियों पर दिया था विवादित बयान...

मालूम हो कि मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले सागर जिले के खुरई विधानसभा क्षेत्र में रैली को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने बीजेपी के लिए काम करने वाले अधिकारियों को देख लेने की बात की थी. उन्होंने कहा था कि, ''जो भी शासकीय कर्मचारी सही काम नहीं करता और बीजेपी का बिल्ला जेब में लेकर घूमता है. उसे हमारी सरकार आने के बाद देख लेंगे. उन्होंने कहा था कि याद रखें कमलनाथ की चक्की देर से चलती है पर बहुत बारीक पीसती है.''